Roamntic Shayari in Hindi on Us Chand Ka Deedar

जब से समझा क्या हैं ये प्यार,
करने लगे तबसे किसी का इंतज़ार,
मांगने लगे उन्हें दुआओं में रब से,
न जाने कब होगा उस चाँद का दीदार..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *