Modiji Hum Aapke Saath Hain

1. आज की success के बाद का step

12 तारीख को रात के 12 बजे कोरोना को धोखा देना है…
सभी को 12 मिनट साँस रोकनी है, कोरोना को लगेगा सब मर गए हैं… ऐसा मानकर भारत से भाग जाएगा…

2. ये जो 21 दिन बीवी के साथ गुज़ार रहे हैं न …

इसको आप अपनी रिटायर्ड लाइफ का ट्रेलर भी समझ सकते हैं .

3. तू ठहर जा अपने घरों में
दुनिया में भारत का डंका बजा देंगे
हम रेल कर्मचारी है साहब
देश के कोने कोने में राशन पहुंचा देंगे

4. कोरोना गया भाड़ में,
मोदीजी नया टास्क बताओ,
बहुत मज़ा आ रह है। .

५. ना जाने मोदीजी कब कहेंगे, मेरी प्यारी बहेनो,
आप सब एक दिन के लये कोई काम नहीं करेंगी,
सारा काम मेरे प्यारे भाई करेंगे,
और मेरी प्यारी बेहेने , शाम को 5 बजे बालकनी में आकर सेल्फी लेंगी।।

Corona – Biwi Ke Nakhre

कोरोना ।
बीवियों के नख़रे ।

1, कमरे से बाहर निकलो तो —- अभी झाडू किया था सब बरबाद कर दिया ।
2, लेटो तो —- सारी बैड शीट खराब कर दी आपको बिलकुल ढंग नहीं है ।
3—— कुछ खाने को मांगो तो । अभी दिया तो था ।
4—– घर की Maid को बुलाया तो– क्या चाहिए मुझे बताओ ।
5— TV चलाओ तो — मुझे सोने दो ।
6— Bed से उठो तो– कहा जा रहे हो ।
7— ना उठो तो — सुबह से एक ही जगह पे लेटे हो पीठ नहीं दुख रही आपकी।
8—चाय मांगो तो — कितनी चाय पियोगे
9— बोतल की तरफ देखते ही — ज्यादा सयाने मत बनो ।
10—- घर से बाहर झाँको—- तो क्या देख रहे हो । लेटे रहो ।
11— थोड़ा लेट जाओ तो — उठो चादर खराब हो गई है ठीक कर दूं ।
12—बच्चे को कुछ कह दो तो— क्या है आपको ।
13—- ना कहो तो— आपने सिर चढ़ाकर रखा है ।
14— इन सब बातों से दुखी हो कर— किसी के घर जाने कि बात कहो तो, पागल हो गये हो क्या ।
15— किसी को घर बुलाओ तो— खबरदार मेरे घर में कोई आ ना जाये ।
16– सारा दिन से फोन पर लगे हो —ऑफिस में भी यही करते होओगे ।

मोदी जी हमें बचा लो । अभी बहुत सारे दिन बाकि हैं ।

Ghar Par Hi Rehna

यह होम क्वारंटाइन आपके द्वारा भगवान से मांगी गई इच्छाओं का फल है। इसे स्वीकार करें,इस प्रकार समझें…👇

1. बच्चे: चाहते थे कि उनका कोई स्कूल न हो और वह सारा दिन खेल सकें।(और हो गया)

2. महिला: चाहती थी कि वह अपने पति का ध्यान रख सकें, जो इतनी मेहनत करते हैं और साथ चाहती थी कि उनके पति उनके साथ समय बिताते हुए घर के हर काम में हाथ बटाएँ। (और हो गया)

3. पति: मैं इस ट्रैफिक से परेशान हूं और मैं चाहता हूं कि मैं घर पर रहूं और और कोई काम भी न करूँ,वेतन भी घर बैठे पाऊं ।(और हो गया)

4. नौकरीपेशा माताएं-:काश मैं अपने बच्चों के साथ कुछ क्वालिटी टाइम बिता पाऊं।(और हो गया)

5.विद्यार्थी: काश मुझे अपनी परीक्षा के लिए अध्ययन नहीं करना पड़े और एग्जाम टल जाएँ।(और हो गया)

6. वृद्ध माता-पिता: काश हमारे बच्चे रोज़ व्यस्त होने के बजाय हमारे साथ अधिक समय बिता पाते। (और हो गया)

7. कर्मचारी: मैं नौकरी की भागमभाग से तंग आ चुका हूँ, मुझे एक ब्रेक की जरूरत है ।-(और हो गया)

8. व्यापारी- हमारा कोई जीवन नहीं है, काश घर बैठकर आराम से टीवी देख सकते। (और हो गया)

9. पृथ्वी: मैं सांस नहीं ले पा रही। काश, मुझे इस सारे प्रदूषण और अराजकता से निज़ात मिले ।(और हो गया)

अब आप ऐसे में ईश्वर से क्या शिकायत करेंगे, आपने जो जो चाहा था वह हो गया ।अतः आगे से सोच समझ के मांगे क्योंकि आप जो चाहते हैं, ईश्वर चाहे तो वो सब आपको दे सकता है ………..

Corona Bhagona

कोरोना संकट की इस घड़ी में..

आप सभी से अनुरोध:

निर्देशों का पालन करो ना।
पग भी बाहर मत धरो ना।
हाथों की सफाई करो ना।
सब क्वारंटाइन करो ना।

वस्तु संग्रह मत करो ना।
खाने को व्यर्थ मत करो ना।
आपस में दूरी करो ना।
हवन भी प्रतिदिन करो ना।

ईश्वर का ध्यान करो ना।
निर्धन का ध्यान करो ना।
औरों का ध्यान करो ना।
अपना भी ध्यान करो ना।

रुचि पूरी कोई करो ना।
जीवन रंगों से भरो ना।
थोड़ी बागवानी करो ना।
कविता-कहानी करो ना।

प्रतिदिन योग करो ना।
ध्यान भी थोड़ा धरो ना।
कुछ भी अच्छा करो ना।
कोरोना से मत डरो ना।

एक साथ सब करो ना।
समवेत स्वरों से करो ना।
इच्छा शक्ति से करो ना।
पूरी भक्ति से करो ना।

दृढ़ विश्वास:

130 करोड़ की शक्ति से
होगा परास्त अब कोरोना।
जन्मेगा एक सशक्त भारत
डरकर भागेगा कोरोना।

और मां भगवती से प्रार्थना:

माता अनुकंपा करो ना।
सबके कष्टों को हरो ना।
काली का रूप धरो ना।
कोरोना का वध करो ना।।