Hindi Poem – Jo ab tak na hua

जो अब तक न हुआ वो इस बार हो जाये ,
मैं मुझसे मिलूं और खुद से प्यार हो जाये,
किसी महफ़िल में बैठी रहूंगी, मसखरे का नक़ाब लगाए,
हंसी के ठहाकों के पीछे कई राज़ दिल के छुपाये,
नक़ाब हटे और हक़ीक़त का दीदार हो जाये,
मैं मुझसे मिलूं और खुदसे प्यार हो जाये,
या बादलों संग उड़ती मिलूंगी ,रंगीन खवाबों के पंख लगाए,
थकते कबधो पर फिर भी कई आरज़ू के बोझ उठाये,
बोझ गिरे और हलके ख्वाबों से दिल खुशगवार हो जाये,
मैं मुझसे मिलूं और खुदसे प्यार हो जाये,
जो अब तक न हुआ वो इस बार हो जाये।।

Hindi Poem on Tere Sang Chalna Mujhe

तुमको छुले जो हवा उसे छूना चाहूँ मैं,
तू जो संग चले न होंगे तनहा रास्ते,
कब तक मैं अकेले रहूं, कब तक मैं अकेले चलूँ,
तू जो बस आ जाये मेरे पास बदल जाएगी मेरी दुनिया।।

Hindi Love Poem on Ajnabee The Ajnabee Hain

मेरी आँखो का हर आँसू तेरे प्यार की निशानी है,
जो तू समझे तो मोती है, ना समझे तो पानी है,
नज़ाने क्यू रेत की तरह हाथो से निकल जाते है लोग,
जिन्हे हम ज़िंदगी समझ कर कभी खोना नहीं चाहते,
फ़ासले कब कम हुए है राबतो के बाद भी,
अजनबी थे, अजनबी है मोहब्बत के बाद भी..

Hindi Poem – Humsafar

वो हमसफ़र था मगर उससे हमनवायी न थी ,
कहीं धुप छाँव का आलम रहा , जुदाई ना थी,
मोहब्बत का सफर इस तरह भी गुज़रा था,
शिकस्ता दिल थे मुसाफिर, शिकस्ता पायी न थी,
भिच्छाड़ते वक़्त उन आँखों में थी हमारी ग़ज़ल,
ग़ज़ल भी वो जो किसी को अभी सुनाई न थी..

Love Poem in Hindi on Ek Taraf

शोर दुनिया का एक तरफ है , दिल की वीरानी एक तरफ,
साडी दुनिया एक तरफ है , दिल की दीवानगी एक तरह ,
दर्दे दिल तो एक तरफ है , और मुस्कान एक तरफ,
जो देखा वो एक तरफ है, जो जाना वो एक तरफ,
प्यार जाताना एक तरफ है , प्यार निभाना एक तरफ। .