Poem in Hindi on Dosti

मैं लोगों से मुलाकातों के लम्हें याद रखता हूँ,
मैं बातें भूल भी जाऊं तो लहजे याद रखता हूँ,

सर-ए-महफ़िल निगाहें मुझ पे जिन लोगों की पड़ती हैं,
निगाहों के हवाले से वो चेहरे याद रखता हूँ,

ज़रा सा हट के चलता हूँ ज़माने की रवायत से,
कि जिन पे बोझ मैं डालू वो कंधे याद रखता हूँ,

दोस्ती जिस से कि उसे निभाऊंगा जी जान से,
मैं दोस्ती के हवाले से रिश्ते याद रखता हूँ..

Heart Touching Shayari in Hindi on Banjar Si Zameen

इस तन्हाई में जीने की आदत सी हो गई है,
जमाने से बचकर चलना फितरत सी हो गई है,
कितना भी क्यूँ ना बरसे आसमाँ,
अरमान नहीं खिलने वाले,
क्यूँ कि दिल की जमीं बंजर सी हो गई है..

Dard Bhari Shayari in Hindi on Pasand Aur Pyar

बिकता है गम हँसी के बाज़ार मैं,
लाखो दर्द छिपे होते है एक छोटे से इनकार मैं,
वो क्या समझ पाएंगे प्यार की कशिश,
जिन्होंने फर्क ही नहीं समझा पसंद और प्यार मैं..