Love Poem in Hindi on Jisne Ki Mohabbat

जिसने भी की मुहब्बत, रोया जरूर होगा।
वो याद में किसी के खोया जरूर होगा।

दिवार के सहारे, घुटनों में सिर छिपाकर ,
वो ख्याल में किसी के खोया जरुर होगा।

आँखों में आंसुओ के, आने के बाद उसने,
धीरे से उसको उसने, पोंछा जरुर होगा।

जिसने भी की मुहब्बत, रोया जरूर होगा।

Love Poem in Hindi on Mere Humsafar

किसी राह में, किसी मोड़ पर,
कहीं चल न देना तू छोड़ कर,
मेरे हमसफ़र, मेरे हमसफ़र,
किसी हाल में, किसी बात पर,
कहीं चल न देना तू छोड़ कर,
मेरे हमसफ़र, मेरे हमसफ़र
मेरा दिल कहे कहीं,
ये न हो नहीं ये न हो..

Love Poem in Hindi

तेरा जाना दिल को कभी गँवारा ना हुआ,
ऐसा रूठा हमसे फिर कभी हमारा ना हुआ,
बहुत हसरत रही कि तेरे साथ चले हम,
बस तेरी और से ही कभी इशारा ना हुआ,
मौत अच्छी थी जिसने उठाया था मुझको,
जिन्दगी यू तेरा मुझे कभी सहारा ना हुआ..

Love Poem in Hindi

आप भी हैं,हम भी हैं,ऊपर तारे नीचे जमीं हैं।
दिल बेरंग है तो क्या,यारो शाम तो रंगीन है।
दुनिया का क्या ये तो जवां है,
पर है थकी थकी,रवानी कहां है।
गर खुद पर यकीन है,तो दुनिया हसीन है।
कुछ तरस खा ले,जरा चढ़ा ले,
हसीना ना सही, जाम तो हसीन है।

Love Poem in Hindi on Main aur Hum

तप कर गमों की आग में कुंदन बने हैं हम;
खुशबू उड़ा रहा दिल चंदन से सने हैं हम;

रब का पयाम ले कर अंबर पे छा गए;
बिखरा रहे खुशी जग बादल घने हैं हम;

सच की पकड़ के बाँह ही चलते रहे सदा;
कितने बने रकीब हैं फ़िर भी तने हैं हम;

छुप कर करो न घात रे बाली नहीं हूँ मैं;
हमला करो कि अस्त्र बिना सामने हैं हम;

खोये किसी की याद में मदहोश है किया;
छेड़ो न साज़ दिल के हुए अनमने हैं हम।