Love Poem in Hindi on Mere Humsafar

किसी राह में, किसी मोड़ पर,
कहीं चल न देना तू छोड़ कर,
मेरे हमसफ़र, मेरे हमसफ़र,
किसी हाल में, किसी बात पर,
कहीं चल न देना तू छोड़ कर,
मेरे हमसफ़र, मेरे हमसफ़र
मेरा दिल कहे कहीं,
ये न हो नहीं ये न हो..

Zindagi Poem In Hindi

समंदर सारे शराब होते तो सोचो कितना बवाल होता,
हक़ीक़त सारे ख़्वाब होते तो सोचो कितना बवाल होता..

किसी के दिल में क्या छुपा है ये बस ख़ुदा ही जानता है,
दिल अगर बेनक़ाब होते तो सोचो कितना बवाल होता..

थी ख़ामोशी हमारी फितरत में तभी तो बरसो निभ गयी लोगो से,
अगर मुँह में हमारे जवाब होते तो सोचो कितना बवाल होता..

हम तो अच्छे थे पर लोगो की नज़र में सदा बुरे ही रहे,
कहीं हम सच में ख़राब होते तो सोचो कितना बवाल होता..

Hindi Poem – Mohtaj Nahi

लोग होठों पे सजाये हुए फिरते हैं मुझे,
मेरी शोहरत किसी अखबार की मोहताज नहीं,
इसे तूफ़ान ही किनारे से लगा सकता है,
मेरी कश्ती किसी पतवार की मोहताज नहीं,
मैंने मुल्कों की तरह लोगों के दिल जीते हैं,
ये हुकूमत किसी तलवार की मोहताज नहीं..

Love Poem in Hindi

तेरा जाना दिल को कभी गँवारा ना हुआ,
ऐसा रूठा हमसे फिर कभी हमारा ना हुआ,
बहुत हसरत रही कि तेरे साथ चले हम,
बस तेरी और से ही कभी इशारा ना हुआ,
मौत अच्छी थी जिसने उठाया था मुझको,
जिन्दगी यू तेरा मुझे कभी सहारा ना हुआ..

Love Poem in Hindi

आप भी हैं,हम भी हैं,ऊपर तारे नीचे जमीं हैं।
दिल बेरंग है तो क्या,यारो शाम तो रंगीन है।
दुनिया का क्या ये तो जवां है,
पर है थकी थकी,रवानी कहां है।
गर खुद पर यकीन है,तो दुनिया हसीन है।
कुछ तरस खा ले,जरा चढ़ा ले,
हसीना ना सही, जाम तो हसीन है।