Doston Ki wafa Wali Hindi Shayari

गुनाह करके सज़ा से डरते हैं,
जहर पी के दवा से डरते हैं,
दुश्मनों के सितम का खौफ नहीं,
हम तो दोस्तों की वफ़ा से डरते हैं।

5 thoughts on “Doston Ki wafa Wali Hindi Shayari”

  1. हम तो हर खुशी को उनके चहरे पे सज़ा के रखते है।
    ***
    और वो है कि बीती बातों को दिल से लगा कर रखते है।
    ***
    उनके हर तकलीफ और दर्द तो उनकी आँखो से बयाँ होते है।
    ***
    और हम अपने दिल के हाल को सब से छुपा के रखते है।
    ***
    **
    *
    Avi…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *