Dosti Shayari in Hindi on Meri Zindagani Bankar

वो दिल क्या जो मिलने की दुआ ना करे,
तुम्हे भूलकर जियूं ये खुदा ना करे ,
रहे तेरी दोस्ती मेरी ज़िंदगानी बनकर ,
यह बात और है ज़िन्दगी वफ़ा ना करे..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *