Dard Bhari Shayari on True Love

वो बेवफा नहीं है , हमको यकीन है
बस इम्तहान लेने का खुदा शौकीन है
न आने का सबब महज मजबूरियाँ रही होंगी
वरना दोस्ती के कितने ही उनके लम्हे हसीन हैं

3 thoughts on “Dard Bhari Shayari on True Love”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *