Dard Bhari Shayari on Keemat nahi Kismat

खरीद सकते उन्हें तो
अपनी जिंदगी देकर भी खरीद लेते ,
पर कुछ लोग “कीमत” से नही
“किस्मत” से मिला करते हैं ।

One thought on “Dard Bhari Shayari on Keemat nahi Kismat”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *