Dard Bhari Shayari in Hindi on Pyasi Nigahein

प्यासी ये निगाहें तरसती रहती हैं;
तेरी याद में अक्सर बरसती रहती हैं;
हम तेरे ख्यालों में डूबे रहते हैं;
और ये ज़ालिम दुनिया हम पे हँसती रहती है।

2 thoughts on “Dard Bhari Shayari in Hindi on Pyasi Nigahein”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *