Zindagi Shayari on Muskura ke Dekh

मुस्कारने के मकसद न ढूँढ,
वर्ना जिन्दगी यूँ ही कट जाएगी,
कभी बेवजह भी मुस्कुरा के देख,
तेरे साथ साथ जिन्दगी भी मुस्कुरायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *