New Year Wishes for 2016

new year wishes
1. इस रिश्ते को यूंही बनाये रखना,
दिल में यादों के चिराग जलाये रखना,
बहुत प्यारा सफ़र रहा साल 2015 का
अपना साथ 2016 में भी बनाये रखना।,

2. इस नये साल में जो तू चाहे वो तेरा हो
हर दिन खूबसूरत और राते रोशन हो
नया साल तेरा पुराने साल से सुनहरा हो
तुझे मेरे यार नया साल मुबारक हो।

3. हर साल आता है, हर साल जाता है
इस नये साल में आपको वो सब मिले
जो आपका दिल चाहता है।

4. सोचा किसी अपने से बात करे
अपने किसी को याद करे
किया जो फैसला नए साल कि शुभकामनाये देने का
दिल ने कहा क्यों न शुरुआत आपसे करे

5. भूल जाओ बीते हुए कल को दिल में बसलो आने वाले कल को,
मुस्कुराओ चाहे जो बी हो पल,
खुसिया लेकर आयेगा आने वाला कल ।
२०१6 नए साल कि शुभकामनाये ।

Dhanteras Ki Badhai Message in Shayarana Andaz

सोने का रथ, चांदनी की पालकी,
बैठकर जिसमें है माँ लक्ष्मी आई,
देने आपको और आपके पूरे परिवार को,
धनतेरस की बधाई….!!

————

आपके घर में धन की बरसात हो
लक्ष्मी जी का वास हो।
लक्ष्मी जी की कृपा आप और
आपके परिवार पर बनी रहे ।।
धनतेरस की हार्दिक बधाई ।।

Heart touching poem on Happy Father’s Day

जब मम्मी डाँट रहीं थी
तो
कोई चुपके से हँसा रहा था,
वो थे पापा. . .

जब मैं सो रहा था
तब कोई चुपके से
सिर पर हाथ फिरा रहा था ,
वो थे पापा. . .

जब मैं सुबह उठा तो
कोई बहुत थक कर भी
काम पर जा रहा था ,
वो थे पापा. . .

खुद कड़ी धूप में रह कर
कोई मुझे ए.सी. में
सुला रहा था,
वो थे पापा. . .

सपने तो मेरे थे
पर उन्हें पूरा करने का
रास्ता कोई और बताऐ
जा रहा था ,
वो थे पापा. . .

मैं तो सिर्फ अपनी खुशियों में
हँसता हूँ,
पर मेरी हँसी देख कर
कोई अपने गम
भुलाऐ जा रहा था ,
वो थे पापा. . .

फल खाने की
ज्यादा जरूरत तो उन्हें थी,
पर कोई मुझे सेब खिलाए
जा रहा था ,
वो थे पापा. . .

खुश तो मुझे होना चाहिए
कि वो मुझे मिले ,
पर मेरे जन्म लेने की
खुशी कोई और मनाए
जा रहा था ,
वो थे पापा. . .

ये दुनिया पैसों से चलती है
पर कोई सिर्फ मेरे लिए
पैसे कमाए
जा रहा था ,
वो थे पापा. . .

घर में सब अपना प्यार दिखाते हैं
पर कोई बिना दिखाऐ भी
इतना प्यार किए
जा रहा था ,
वो थे पापा. . .

पेड़ तो अपना फल
खा नही सकते
इसलिए हमें देते हैं…
पर कोई अपना पेट
खाली रखकर भी मेरा पेट
भरे जा रहा था ,
वो थे पापा. . .

मैं तो नौकरी के लिए
घर से बाहर जाने पर दुखी था
पर मुझसे भी अधिक आंसू
कोई और बहाए
जा रहा था ,
वो थे पापा. . .

मैं अपने “बेटा” शब्द को
सार्थक बना सका या नही..
पता नहीं…
पर कोई बिना स्वार्थ के
अपने “पिता” शब्द को
सार्थक बनाए
जा रहा था ,
वो थे पापा!

I Love you Papa..
Happy Father’s Day