Dard Bhari Shayari in Hindi on Khamosh Fiza

ख़ामोश फ़ज़ा थी कहीं साया भी नहीं था,
इस शहर में हमसा कोई तनहा भी नहीं था,
किस जुर्म पे छीनी गयी मुझसे मेरी हँसी,
मैंने किसी का दिल तो दुखाया भी नहीं था..

Dard Bhari Shayari in Hindi on Zindagi Likh Di

कागज़ पे हमने भी ज़िन्दगी लिख दी,
अश्क से सींच कर उनकी खुशी लिख दी,
दर्द जब हमने उबारा लफ्जों पे,
लोगों ने कहा वाह क्या गजल लिख दी..

Dard Bhari Shayari in Hindi on Jo Na Mila

लोग जलते रहे मेरी मुस्कान पर,
मैंने दर्द की अपने नुमाईश न की,
जब जहाँ जो मिला अपना लिया,
जो न मिला उसकी ख्वाहिश से ही दिल लगा लिया..

Dard Bhari Shayari in Hindi on Ek Tarfa Pyar

जो लोग एक तरफा प्यार करते है,
अपनी ज़िन्दगी को खुद बर्बाद करते है,
नहीं मिलता बिना नसीब के कुछ भी,
फिर भी लोग खुद पर अत्याचार करते है..

Dard Bhari Shayari in Hindi on Mujhe Chahne Wala

आँखों में रहा दिल में उतर कर नहीं देखा,
कश्ती के मुसाफिर ने समंदर नहीं देखा,
पत्थर मुझे कहता है मेरा चाहने वाला,
मैं मोम हूँ उसने मुझे छू कर नहीं देखा..